डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कालाम जीवनी – Biography of A. P. J. Abdul Kalam in Hindi

0
डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम जीवनी – Biography of A. P. J. Abdul Kalam in Hindi, Janiye A.P.J Abdul kalam sir ke bare me Bahut si batein

एपीजे अब्दुल कलाम का पूरा नाम अवुल पकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम था. उनका उनका  जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में एक मुसलमान परिवार मैं हुआ।उनके पिता जैनुलअबिदीन एक नाविक थे और उनकी माता अशिअम्मा एक गृहणी थीं।कलाम अपने एक बहन और चार भाइयों में सबसे छोटे थे। कलाम का बचपन हिन्दू और मुस्लिम धार्मिक माहौल में बिता।उनके पिता के साथ ही अहमद जल्लालुद्दीन नाम का एक व्यक्ति काम करता था। जिनका बाद में कलाम की बहन जौहरा के साथ निकाह हुआ।

इन्हे मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से जाना जाता है, भारतीय गणतंत्र के ग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे। वे भारत के पूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता (इंजीनियर) के रूप में विख्यात थे। उन्होंने सिखाया जीवन में चाहें जैसे भी परिस्थिति क्यों न हो पर जब आप अपने सपने को पूरा करने की ठान लेते हैं तो उन्हें पूरा करके ही रहते हैं। अब्दुल कलाम मसऊदी के विचार आज भी युवा पीढ़ी को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं।

A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi

A. P. J. Abdul Kalam उनके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थे इसलिए उन्हें छोटी उम्र से ही काम करना पड़ा। अपने पिता की आर्थिक मदद के लिए बालक कलाम स्कूल के बाद समाचार पत्र वितरण का कार्य करते थे। अपने स्कूल के दिनों में कलाम पढाई-लिखाई में सामान्य थे पर नयी चीज़ सीखने के लिए हमेशा तैयार रहते थे।अब्दुल कलाम के जीवन पर इनके पिता का बहुत प्रभाव रहा। वे भले ही पढ़े-लिखे नहीं थे, लेकिन उनकी लगन और उनके दिए संस्कार अब्दुल कलाम के बहुत काम आए। पाँच वर्ष की अवस्था में रामेश्वरम की पंचायत के प्राथमिक विद्यालय में उनका दीक्षा-संस्कार हुआ था। 

अब रामेश्वरम से धनुषकोडि के बीच चलती ट्रेन से अखवारों के बंडल फेंके गए। शमशुद्दीन को एक ऐसे लड़के की आवश्यकता थी, जो छूटे हुए अखबारों को इकट्ठा कर सके।

छोटा कलाम को यह मौका मिला। यह कलाम की पहली कमाई थी।

कलाम कहते हैं, “हर बच्चा आर्थिक, सामाजिक और भावनात्मक स्थिति से प्रभावित होकर अपना व्यक्तित्व बनाता है।”

A P J Abdul Kalam की प्रारंभिक पढ़ाई

कलाम अपनी हाइ स्कूल की पढ़ाई के लिए रामनाथपुरम चले गए, जहां Schwartz Higher Secondary School, Ramanathapuram में अपनी पढ़ाई पूरी की।

सन 1950 में कलाम आगे की पढ़ाई के लिए संत जोसेफ कॉलेज (St. Joseph College, Tiruchirappali), तिरुचिपल्ली चले गए। जहां उन्होंने अपना Bsc का डिग्री पूरा किया।

पर तब तक कलाम नहीं जानते थे कि आगे की पढ़ाई से बहुत कुछ किया जा सकता है। Graduation करने के बाद उन्हें पता चला Physics और Chemistry उनका सबजेक्ट नहीं।

उन्होंने अपने सपने को टटोला, मन में एक ही बात उभरा “Engineering”

उसके बाद वर्ष 1955 में वो मद्रास चले गए जहाँ से उन्होंने एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की शिक्षा ग्रहण की। वर्ष 1960 में कलाम ने मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग की पढाई पूरी की।

पढ़ाई के दौरान जब वे एक सीनियर प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे। तो उस प्रोजेक्ट पर उनका धीमे प्रोग्रैस से प्रोजेक्ट के अध्यक्ष नाखुश था।

उसने गुस्से में कलाम को 3 दिन के अंदर रॉकेट का रूपरेखा तैयार करने को कहा। वर्ना उनके स्कोलशिप को रद्द कर दिया जाएगा।

कलाम उस कठिन प्रोजेक्ट पूरा करने में ऐसे लग गए कि 3 दिन की डेडलाइन से पहले ही मात्र 24 घंटे के अंदर पूरा कर उस अध्यक्ष को चौका दिये।

एमआईटी में पढ़ाई के दौरान कलाम तीन Professors से अधिक प्रभावित थे और उनको अपना गुरु मानते थे .

 प्रोफेसर के ए वी पंडलई(KAV Pandalai), वे बड़े ही खुश दिल्ली इंसान थे। हर साल नायाब तरीके से Course को पेश करते थे। जो Aero-structure Design सिखाते थे।

प्रोफेसर नरसिंघ राव(Narasingha), जो मेथमेटिसियन थे, जिनके प्रभाव के कारण कलाम को Mathematical Physics सबसे अच्छा लगने लगा। प्रोफेसर राव कहते थे “हर इंजीनियरिंग स्टूडेंट के टूल्स-किट में मैथ चाकू की तरह होता है।”

प्रोफेसर स्पांडर (Sponder), जो आस्ट्रिया के थे और वे जंगी जहाज के निर्माता भी थे। वे Aero-Dynamic पढ़ाते थे।

A.P.J Abdul Kalam जी के करियर

यह भारत को अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में दुनिया का सिरमौर राष्ट्र बनते देखना चाहते थे और इसके लिए इनके पास एक कार्य योजना भी थी। परमाणु हथियारों के क्षेत्र में यह भारत को सुपर पॉवर बनाने की बात सोचते रहे थे। वह विज्ञान के अन्य क्षेत्रों में भी तकनीकी विकास चाहते थे। कलाम का कहना था कि ‘सॉफ़्टवेयर’ का क्षेत्र सभी वर्जनाओं से मुक्त होना चाहिए ताकि अधिकाधिक लोग इसकी उपयोगिता से लाभांवित हो सकें। ऐसे में सूचना तकनीक का तीव्र गति से विकास हो सकेगा।

1969 में, उन्हें ISRO में भेजा गया जहाँ उन्होंने परियोजना निदेशक के रूप में काम किया। वह पहले सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (SLV III) और पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल -PSLV बनाने में शामिल था। अपना योगदान दिया, जिसका प्रक्षेपण बाद में सफल रहा।1980 में कलाम की टीम ने रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित कर भारत को International Space Club का सदस्य बना दिया।

इसी तरह कलाम ने स्वदेशी शक्तियों को उपयोग करते हुए अग्नि, त्रिशूल और पृथ्वी जैसे मिसाइल बना कर दुनियाँ में मिसाइलमेन कहलाएँ।

राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम

कलाम को जल्द ही उनकी उपलब्धियों का बड़ा इनाम मिला। भाजपा ने कलाम को अपने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में नामित किया, 90% मतों से जीतकर 25 जुलाई 2002 को राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।

कलाम ने अपना कार्यकाल 25 जुलाई 2007 को बेहद अनुशासित और बहुत आसान तरीके से पूरा किया।

A.P.J Abdul Kalam Motivational Quotes in Hindi

इससे पहले कि सपने सच हों आपको सपने देखने होंगे।
शिक्षण एक बहुत ही महान पेशा है जो किसी व्यक्ति के चरित्र, क्षमता, और भविष्य को आकार देता हैं। अगर लोग मुझे एक अच्छे शिक्षक के रूप में याद रखते हैं, तो मेरे लिए ये सबसे बड़ा सम्मान होगा।
अगर तुम सूरज की तरह चमकना चाहते हो तो पहले सूरज की तरह जलो।
विज्ञान मानवता के लिए एक खूबसूरत तोहफा है, हमें इसे बिगाड़ना नहीं चाहिए
महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं।
सपने वो नहीं है जो आप नींद में देखे, सपने वो है जो आपको नींद ही नहीं आने दे।
हमें हार नहीं माननी चाहिए और हमें समस्याओं को खुद को हराने नहीं देना चाहिए।
महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं।
मैं इस बात को स्वीकार करने के लिए तैयार था कि मैं कुछ चीजें नहीं बदल सकता।
आइये हम अपने आज का बलिदान कर दें ताकि हमारे बच्चों का कल बेहतर हो सके।
क्या हम यह नहीं जानते कि आत्म सम्मान आत्म निर्भरता के साथ आता है?
अंततः, वास्तविक अर्थों में शिक्षा सत्य की खोज है। यह ज्ञान और आत्मज्ञान से होकर गुजरने वाली एक अंतहीन यात्रा हैं।
जो अपने दिल से काम नहीं कर सकते वे हासिल करते हैं, लेकिन बस खोखली चीजें, अधूरे मन से मिली सफलता अपने आस-पास कड़वाहट पैदा करती हैं।
इंतजार करने वाले को उतना ही मिलता हैं, जितना कोशिश करनेवाले छोड़ देते हैं।
पक्षी अपने ही जीवन और प्रेरणा द्वारा संचालित होता हैं।
जीवन एक कठिन खेल हैं। आप एक व्यक्ति होने के अपने जन्मसिद्ध अधिकार को बनाये रखकर इसे जीत सकते हैं।
महान शिक्षक ज्ञान, जूनून और करुणा से निर्मित होते हैं।
यदि हम स्वतंत्र नहीं हैं तो कोई भी हमारा आदर नहीं करेगा।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम द्वारा रचित 25 प्रमुख पुस्तकों की सूची

1. इंडिया 2020: ए विजन फॉर द न्यू मिलेनियम (India 2020: A Vision for the New Millennium)

प्रकाशन वर्ष: 1998

2. विंग्स ऑफ फायर: एन ऑटोबायोग्राफी (Wings of Fire: An Autobiography)

प्रकाशन वर्ष: 1999

3. इगनाइटेड माइंड्स: अनलीजिंग द पॉवर विदिन इंडिया (Ignited Minds: Unleasing the Power Within India)

प्रकाशन वर्ष: 2002

4. द ल्यूमिनस स्पार्क्स: ए बायोग्राफी इन वर्स एंड कलर्स (The Luminous Sparks: A Biography in Verse and Colours)

प्रकाशन वर्ष: 2004

5.  गाइडिंग सोल्स: डायलॉग्स ऑन द पर्पस ऑफ लाइफ (Guiding Souls: Dialogues on the Purpose of Life)

प्रकाशन वर्ष: 2005

सह-लेखक: अरूण तिवारी

6.  मिशन ऑफ इंडिया: ए विजन ऑफ इंडियन यूथ (Mission of India: A Vision of Indian Youth)

प्रकाशन वर्ष: 2005

7.  इन्स्पायरिंग थॉट्स: कोटेशन सीरिज (Inspiring Thoughts: Quotation Series)

प्रकाशन वर्ष: 2007

8. यू आर बोर्न टू ब्लॉसम: टेक माई जर्नी बियोंड (You Are Born to Blossam: Take My Journey Beyond)

प्रकाशन वर्ष: 2011

सह-लेखक: अरूण तिवारी

9. द साइंटिफिक इंडियन: ए ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी गाइड टू द वर्ल्ड अराउंड अस (The Scientific India: A Twenty First Century Guide to the World Around Us)

प्रकाशन वर्ष: 2011

सह-लेखक: वाई. एस. राजन

10. फेलियर टू सक्सेस: लीजेंडरी लाइव्स (Failure to Success: Legendry Lives)

प्रकाशन वर्ष: 2011

सह-लेखक: अरूण तिवारी

11. टारगेट 3 बिलियन (Target 3  Billion)

प्रकाशन वर्ष: 2011

सह-लेखक: श्रीजन पाल सिंह

12. यू आर यूनिक: स्केल न्यू हाइट्स बाई थॉट्स एंड एक्शंस (You Are Unique: Scale New Heights by Thoughts and Actions)

प्रकाशन वर्ष: 2012

सह-लेखक: एस. कोहली पूनम

13. टर्निंग पॉइंट्स: ए जर्नी थ्रू चैलेंजेस (Turning Points: A Journey Through Challenges)

प्रकाशन वर्ष: 2012

14. इन्डोमिटेबल स्प्रिट (Indomitable Spirit)

प्रकाशन वर्ष: 2013

15. स्प्रिट ऑफ इंडिया (Spirit of India)

प्रकाशन वर्ष: 2013

16. थॉट्स फॉर चेंज: वी कैन डू इट (Thoughts for Change: We Can Do It)

प्रकाशन वर्ष: 2013

सह-लेखक: ए. सिवाथानु पिल्लई

17. माई जर्नी: ट्रांसफॉर्मिंग ड्रीम्स इन्टू एक्शंस (My Journey: Transforming Dreams into Actions)

प्रकाशन वर्ष: 2013

18. गवर्नेंस फॉर ग्रोथ इन इंडिया (Governance for Growth in India)

प्रकाशन वर्ष: 2014

19. मैनीफेस्टो फॉर चेंज (Manifesto For Change)

प्रकाशन वर्ष: 2014

सह-लेखक: वी. पोनराज

20. फोर्ज योर फ्यूचर: केन्डिड, फोर्थराइट, इन्स्पायरिंग (Forge Your Future: Candid, Forthright, Inspiring)

प्रकाशन वर्ष: 2014

21. बियॉन्ड 2020: ए विजन फॉर टुमोरोज इंडिया (Beyond 2020: A Vision for Tomorrow’s India)

प्रकाशन वर्ष: 2014

22. द गायडिंग लाइट: ए सेलेक्शन ऑफ कोटेशन फ्रॉम माई फेवरेट बुक्स (The Guiding Light: A Selection of Quotations from My Favourite Books)

प्रकाशन वर्ष: 2015

23. रिग्नाइटेड: साइंटिफिक पाथवेज टू ए ब्राइटर फ्यूचर (Reignited: Scientific Pathways to a Brighter Future)

प्रकाशन वर्ष: 2015

24. द फैमिली एंड द नेशन (The Family and the Nation)

प्रकाशन वर्ष: 2015

सह-लेखक: आचार्य महाप्रज्ञा

25. ट्रांसेडेंस माई स्प्रिचुअल एक्सपीरिएंसेज (Transcendence My Spiritual Experiences)

प्रकाशन वर्ष: 2015

सह-लेखक: अरूण तिवारी

Abdul kalam की महत्वपूर्ण उपलब्धिया

1- 1997 में भारत रत्न से हुए थे सम्मानीत .

2. 1981 में पद्म भूषण अवार्ड। 

3. 1982 में अन्ना यूनिवर्सिटी ने उन्हें डॉक्टर की उपाधि से सम्मानित किया। 

4. 1990 में पद्म विभूषण अवार्ड।

 5. 1999 में डॉ. कलाम भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार बनें।

 6. 1962 में”भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) से जुड़े।

 7. 2002 में वह भारत के 11वें राष्ट्रपति बनें।

At Last:

तो दोस्तों यह थी हमारे भारत के महान लोगो में से एक A.P.J Abdul Kalam जी के बारे में उनके बायोग्राफी मुझे उमेद हे आपको यह पोस्ट पसंद आयी है।

इस ब्लॉग के लेटेस्ट पोस्ट की नोटिफिकेशन पाने के लिए फेसबुक पेज लाइक, ब्लॉग के बेल्ल आइकॉन सब्सक्राइब करना न भूले। नॉलेज फाइंडर ब्लॉग विजिट करने के लिए और लिख पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here