Mohammad Rafi Biography in Hindi|मोहम्मद रफ़ी जी के बारे में कुछ बाते!

0

Is post mein Singer Mohammad Rafi ji ke btaya gya hai, Mohammad Rafi Biography in Hindi|मोहम्मद रफ़ी जी के बारे में कुछ बाते!

भारतीयों संगीत जगत अतीत काल से ही पुरे दुनिया में मशहूर हैं।भारतीयों संगीत के इस सफलता के पीछे कोई बड़े महान हस्तियों के अवदान हैं ,जिनके वजह से ही हमारे भारतीयों संगीत इस मुकाम तक पहुंचा हैं। इनमे से बहुत सारे हस्तियों का निधन बहुत समय पहले ही हो गया हैं,लेकिन उनकी यादे आज भी हमारे लोगो की जेहन में और संगीत जगत में अमर हैं ,उनलोगो की इस अवदान को हमारा दिल से सलाम हैं। इन सभी हस्तियों के बिच में से हम आज नमन करेंगे हमारे संगीत जगत के एक अन्यतम गायक हमारे सबके प्रियो मोहम्मद रफ़ी ,जो आज भी हमारे बिच अमर हैं। तो आइये इस पोस्ट पर हम अमर गायक मोहम्मद रफ़ी साहब के बारे में जानते हैं.

Mohammad Rafi Biography in Hindi

रफ़ी साहब का जन्म और मृत्यु :

रफ़ी साहब का जन्म 24 दिसंबर सन 1924 को पंजाब में हुआ था। रफ़ी साहब कुछ ज्यादा दिन इस दुनिया में नहीं रह सका ,उन्होंने अपने ज्यादा वक़्त संगीत के साथ ही बिताया हैं। उन्होंने अपने संगीत जगत को ज्यादा बरक़रार रख नहीं पाया और अपने सभी अनुरागी को रुलाकर वो 31 जुलाई सन 1980 को 55 साल के उम्र में बॉम्बे में इस दुनिया को छोड़कर चला गया था। आज भी उनके गाने हम सुनते हैं और उनके यादो को ताज़ा करते हैं।रफ़ी साहब का मौत दिल के दौर दौरा पड़ने से हुई थी।

रफ़ी साहब के परियाल :

रफ़ी साहब के पिता का नाम था हज्जि अली ,रफ़ी साहब के माता का नाम था अल्लाह राखी ,रफ़ी साहब के पिता हाजी थे ,रफ़ी साहब के चार भाई और दो बेहेन थी,

रफ़ी साहब के बीवी और बच्चे :

रफ़ी साहब ने दो शादी की थी। उनका पहला बीवी का नाम था बशीर बीबी। रफ़ी साहब ने फिर सन 1943 को दूसरा शादी किया था। उनका दूसरी बीवी का नाम था बिलकिस बानू। रफ़ी साहब के कुल 6 बच्चे थे ,जिनमे से आज तक सिर्फ दो ही बच्चे ज़िंदा हैं ,उनका एक बेटा जिनका नाम हैं शहीद रफ़ी और उनका एक बेटी जिनका नाम हैं नसरीन अहमद।

रफ़ी साहब के करियर :

रफ़ी साहब को भारतीय संगीत जगत के एक महान गायक मन जाता था। रफ़ी साहब बहुत शांत किस्म के लोग थे ,वे कॉम बोलते थे,रफ़ी साहब एक प्लेबैक गायक थे। उन्होंने अपने गायकी सुरु की थी सन 1944 से। रफ़ी साहब गायक के साथ साथ एक संगीतकार भी थे। रफ़ी साहब प्लेबैक गायक के साथ साथ स्टेज पर भी गाना गाते थे। साथ ही रफ़ी साहब एक क़व्वाली गायक भी थे। रफ़ी साहब भजन ,सूफी ,ग़ज़ल ,पॉप इस तरीके के गाने गाते थे। रफ़ी साहब कोई सरे भाषाओ में गाना गाते थे। रफ़ी साहब ने अपने करियर में लग भग 7405 गाना गाये हैं।अगर रफ़ी साहब और थोड़े दिन ज़िंदा रहता तो और भी बहुत सरे गाने हमको वो दे पता।

रफ़ी साहब के अवार्ड :

रफ़ी साहब को सन 1967 को भारत के सर्बोच्च असामरिक सम्मान पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया था भारत सरकार द्वारा । रफ़ी साहब को 6 filmfare award और एक नेशनल अवार्ड मिला था। सन 2001 को रफ़ी साहब को Hero Honda और stardust magazine ने “Best Singer of the Millenium” सम्मान से सम्मानित किया था। सन 2013 को रफ़ी साहब “Greatest voice in Hindi cinema in the CNN-IBNs poll के बिजेता थे।

आज भी हम रफ़ी साहब को याद करते हैं और उनके यादो में उनके गाना सुनते हैं। रफ़ी साहब के रुहु आज जहा भी। उनके आत्मा को हम दिल से नमन करते है.

अंत में:

तो दोस्तों यह रहा जाने मने भारतीय सिंगर मोहम्मद रफ़ी जी के बारे में, Mohammad Rafi Biography in Hindi मुझे उम्मीद है आपको पोस्ट पसंद आया है।

इस ब्लॉग के लेटेस्ट पोस्ट की नोटिफिकेशन पाने के लिए फेसबुक पेज लाइक, ब्लॉग के बेल्ल आइकॉन सब्सक्राइब करना न भूले। नॉलेज फाइंडर ब्लॉग विजिट करने के लिए और लिख पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

यह भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here